मुखियई के मचि गइल हल्ला,
लागल शिकारी चाल में ।

लेके दउरल चीखना चखना,
माछ फँसावे जाल में ।।

पांच बरिस जे बाति ना पूछल,
नियराइल तs आइल बा ।

उ जालि लोग बूझि गइल तs,
नाया जालि बुनाइल बा ।।

कउआ भी अब बोले लागल,
मिठकी कोयल के बोली ।

सियरा भी अब रोवाँ झारि के,
पेन्हले बा साड़ी चोली ।।

रोवे बिलरिया किरिया खाले,
मुसवन की लगे जाके ।

लोरे झोर भइल बा पपनी,
छोहे छाह छाती फाटे ।।

हाथ जोरेले पांव पड़ेले
पांवे पाँव लोटा जाले ।

उठेले त हाथ दाबि के
बोतल मासु थमा जाले ।।

जवन सेठ जेतने बा लूटले,
फेरु लूटे उ आवsता ।

दूसर के भी जगल जवानी,
लूटे खातिर धावsता ।।

बस चुनाव ले सभे बा आपन,
जहिया वोट डरा जाई ।

जइसे ही ई मोहर लगा दी,
मछरी रेति हता जाई ।।

सोचि समुझि के मोहर लगइह,
पइसा पर जो बिका जइबs ।

अबहीं का तू रोअले बाड़s,
पांच बरिस फेरु रोइबs ।।

सत्य प्रकाश शुक्ल बाबा

आपका गानों की दुनिया में स्वागत है. ये website उन लोगो के लिए है जो गानों से प्यार करते है और हर Songs के Lyrics की गहराईयो को समझते है.

This is a place to get the latest and evergreen popular Bhojpuri Hit songs, lyrics were written in Hindi font from filmy and non-filmy hit songs.

BhojpuriLahar.com is now on Facebook, Youtube, and Twitter. Follow us and Stay Updated

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *